ट्विटर ने भारतीय यूजर्स को किया आगाह डाटा लीक के बारे में

इस साल डाटा लीक्स की कई बड़ी घटनाएं सामने आई है। इन डाटा लीक्स की वजह से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से लेकर इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप और पेमेंटिंग ऐप यूजर्स की कई निजी जानकारियां हैकर्स के हाथ लग चुके हैं। माइक्रोब्लॉगिंग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Twitter ने शनिवार को भारतीय यूजर्स को डाटा लीक के बारे में चेताया है। Twitter ने माना कि एंड्रॉइड यूजर्स के स्मार्टफोन्स में बैड एक्टर की मदद से ऐप के जरिए निजी जानकारियां लीक्स हो सकती हैं।

इसके लिए Twitter ने भारत समेत कई देशों के यूजर्स को ई-मेल के जरिए आगाह किया है। Twitter ने अपने ई-मेल में यूजर्स को एंड्रॉइड स्मार्टफोन के ऐप को लेटेस्ट पैच के साथ अपडेट करने की सलाह दी है। Twitter ने स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा है कि इस बैड एक्टर वाले मलेसियस कोड की वजह से नॉन-पब्लिक अकाउंट की जानकारी लीक्स हो सकती है। इस मलिसियस बैड एक्टर कोड के जरिए हैकर्स डायरेक्ट मैसेज का इस्तेमाल करके आपके अकाउंट को कंट्रोल कर सकते हैं।

Twitter ने अपने स्टेटमेंट में ये भी कहा कि इसे फिक्स करने के लिए काफी जटिल प्रक्रिया से गूजरना पड़ेगा ताकि ट्विटर ऐप के स्टोरेज एरिया को रिस्ट्रिक्ट (प्रतिबंधित) किया जा सके। इसके लिए डायरेक्ट मैसेज, प्रोटेक्टेडट्वीट्स, लोकेशन इंफॉर्मेशन आदि को स्मार्टफोन से ऐप में एक्सेस न किया जा सके। Twitter ने ये भी कहा कि इस तरह के बैड एक्टर और मलिसियस कोड को ऐप में इंसर्ट होने की फिलहाल कोई डायरेक्ट सबूत नहीं मिले हैं लेकिन इसे पूरी तरह से नकारा नहीं जा सकता है। हालांकि Twitter ने इस बात की जानकारी नहीं दी है कि इसकी वजह से कितने यूजर्स इससे फिलहाल प्रभावित हैं।

Twitter ने अपने स्टेटमेंट में ये भी कहा कि हमने इस इश्यू को फिक्स करने के लिए कुछ कदम उठाए हैं, जिनमें यूजर्स को ई-मेल के जरिए अपने अकाउंट को सुरक्षित करने के लिए आगाह कर रहे हैं। Twitter ने इसके लिए यूजर्स को ऐप के लेटेस्ट वर्जन को डाउनलोड करने के लिए कहा है। इस डाटा ब्रीच का असर केवल एंड्रॉइड यूजर्स पर हो सकता है iOS यूजर्स किसी भी तरह से इससे प्रभावित नहीं होंगे। Twitter ने यूजर्स से माफी मांगते हुए कहा कि हमे खेद है कि यूजर्स को इस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

हम आपकी निजी जानकारियों को सुरक्षित रखने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। खास तौर पर भारतीय यूजर्स को भेजे गए ई-मेल में कहा कि अगर किसी यूजर को लगता है कि उनकी जानकारियां लीक हुई हैं तो वे Twitter के डाटा प्रोटेक्शन ऑफिस पहुंचकर अपने अकाउंट की सिक्योरिटी संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *